सहरी में क्या खाएं और क्या नहीं खाएं? सही सहरी डाइट प्लान जानें। Sehri diet plan

Sehri diet plan

सेहरी करते वक़्त ऐसे खानों से बचे जिन्हे खाने के बाद प्यास ज़्यादा लगती हो साथ ही ऐसी चीजो का इस्तेमाल ना करे जिन्हे खाने के फौरन बाद पेट भड़ -भड़ करने लगे कु़छ ही वक़्त बाद भूख का अहसास होने लगे ऐसी सूरतो मै इबादत मै खलल पड़ता है़

दाल, दूध, दही, ब्रेड, फलों का जूस, सलाद, हलवा, ओट्स जैसी चीजों के साथ सेहरी करें। इनसे आपको दिनभर भूख-प्यास का अहसास भी नहीं सताएगा और आप ज्यादा से ज्यादा इबादत कर पाएंगे।

sehri diet plan

Sehri diet plan – ऐसी चीजे खाने से बचे

हल्का ख़ाना दाल या और जो भी कुछ आप खा रहे हैं, ध्यान रखें वह ज्यादा मसालेदार न हो। इससे आपको एसिडिटी की दिक्कत हो सकती है या दिनभर प्यास सता सकती है।

सेहरी मै खाने के लिये ये बेहतर है़

सहरी में सहरी में ओटमील, दूध, ब्रेड और जूस सेहत के लिए बेहतर होते हैं। जो भी खाएं, उनके साथ इन्हें लेना न भूलें।

इसका ध्यान रखना ज़्यादा ज़रूरी है़

सहरी करते वक्त इस बात का ध्यान रखें कि दो एक दूसरे से टकराने वाले खाने एक साथ न खाएं। ऐसा करने से बीमार हो सकते हैं। जैसे, दूध के साथ ऐसी चीजें न खाएं जिनमें नमक हो। दूध के साथ ऐसी चीजें खाने से बचें, जिन्हें बनाने में दही या छाछ का इस्तेमाल होता हो।

खाना जो मन के साथ जिस्म को भी सुकून दे

तला-भुना और चटपटा खाना हमें मज़ा तो देता है, लेकिन इसे खाने के बाद जिस्म दूसरी चीजों की मांग करने लगता है। जैसे, तली हुई चीजें खाने के बाद प्यास शिद्धत से लगती है। या पेट में जलन, गैस वगैरह की प्रॉब्लम के चलते हमारा जिस्म दूसरे खानों की की मांग करता है ताकि तालमेल बनाया जा सके। ऐसे में रोजा होने की वजह से आप जिस्म की ख़्वाहिश को पूरा नहीं कर पाते और मन परेशान रहता है। तो ऐसी सूरते हाल से बचना ही बेहतर है।

निष्कर्ष

वैसे तो आपने खुद ही इसका ध्यान रखा होगा, लेकिन अगर ध्यान से निकल गया है तो याद दिला दें कि जरूरी काम सुबह-सुबह या शाम के वक्त निपटा लें। ताकि धूप में बाहर न रहना पड़े। इस वक्त गर्मी बहुत है और खुद को लू से बचाना बेहद जरूरी है। दिनभर पानी बिना पिए धूप में निकलने पर सेहत गड़बड़ा सकती है।

और हाँ अगर सेहरी करके कुछ इलायची मुँह मै चबा कर खाने से भी प्यास का अहसास बहुत कम होता है़ तो ये भी आज़मा सकते है़ ….इन शा अल्लाह

FAQ

सहरी क्या होती है और इसका महत्व क्या है?

सहरी एक महत्वपूर्ण भोजन है जो रोजा रखने के लिए सुबह फज्र की अजान के पहले खाया जाता है। सहरी खाने से शरीर का मेटाबॉलिज्म तेज होता है जिससे खाने के बाद शरीर को खाने का वजन कम से कम वक्त में अवश्यता होती है।

सहरी में क्या खाना चाहिए?

सहरी में आप प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स और फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थ खाना चाहिए। आप अंडे, दही, पोहा, ओट्स, सबुदाना खिचड़ी, रोटी, सब्जी आदि खा सकते हैं।

सहरी में क्या नहीं खाना चाहिए?

सहरी में तली हुई चीजें और मीठे खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए। आपको स्वीट्स, चिप्स, नमकीन, फ्रेंच फ्राइज आदि नहीं खाना चाहिए।

सही सहरी डाइट प्लान क्या हो सकता है?

एक सही सहरी डाइट प्लान में आप अंडे, दही, पोहा, ओट्स, सबुदाना खिचड़ी, रोटी, सब्जी, सूखे फल आदि शामिल कर सकते हैं।

(Visited 363 times, 1 visits today)

Leave a Comment